Posted on May 29, 2021 at 8:43 pm

Featured Releases

Hamd Sharief Brings New Qawwali Teri Zaat Zaat E Shifaat Hain

Spread the love

Hamd Sharief Brings New Qawwali Teri Zaat Zaat E Shifaat Hain

Hamd Sharief Brings New Qawwali Teri Zaat Zaat E Shifaat Hain

Tips Ibadat new song Teri Zaat Zaat E Shifaat Hain will feed your soul with positivity and devotion

Teri Zaat Zaat e Shifaat Hain which means “your essence is the essence of attributes”, is a profound Hamd Sharief (sung in praise of Allah) composed & written by Late Ustad Maqbool Ahmed Sabri. , a Legend, who was the founding member of the Sabri Brothers Qawali group & is known for taking Qawwalis to the west.

Shumail quoted saying

“This track is very close to our hearts because it was composed and penned by my beloved father and also my Ustad who trained me and gave me the beautiful world of music. I am very delighted that it will be released on Tips Ibadat & surely, it will have a special place in everyone’s heart.

Kumar Taurani quoted “Shumail has recorded various Qawalis, Hamd, and ghazals. Teri Zaat Zaat E shifaat hain is beautifully penned, praising the essence of the almighty”.

तेरी शान जल्ला जलाले हू
तेरा हूर्फ़ हूर्फ़े कमाले हू
सरे अर्श ओ फ़र्श है तू ही तू
अल्लाह

तेरी ज़ात ज़ाते सिफ़ात है
तेरी ज़ात ज़ाते सिफ़ात है
तेरे दम से नज़्मे हयात है
तेरी हम्द सबकी निजात है
तेरी ज़ात ज़ाते सिफ़ात है
अल्लाहु, अल्लाहु, अल्लाहु, अल्लाह
अल्लाहु, अल्लाहु, अल्लाहु, अल्लाह

तेरा ज़िक्र कर ना सके जुबां
तेरी फ़िक्र कर ना सके जहां
तेरा ज़िक्र कर ना सके जुबां
तेरी फ़िक्र कर ना सके जहां
तेरी अज़मतों में वो बात है
तेरी अज़मतों में वो बात है
तेरी ज़ात ज़ाते सिफ़ात है
अल्लाहु, अल्लाहु, अल्लाहु, अल्लाह
अल्लाहु, अल्लाहु, अल्लाहु, अल्लाह

तेरे नूर का वो ज़हूर है
के जहां पे गुम ये शऊर है
तेरे नूर का वो ज़हूर है
के जहां पे गुम ये शऊर है
जो ना देखें उसका क़सूर है
जो ना देखें उसका क़सूर है
तेरी ज़ात ज़ाते सिफ़ात है
अल्लाहु, अल्लाहु, अल्लाहु, अल्लाह
अल्लाहु, अल्लाहु, अल्लाहु, अल्लाह

तू करीम है तू रहीम है
तेरे दम से बादे नसीम है
तू करीम है तू रहीम है
तेरे दम से बादे नसीम है
तेरी ज़ात सबसे अज़ीम है
तेरी ज़ात सबसे अज़ीम है

तेरी ज़ात ज़ाते सिफ़ात है
तेरी ज़ात ज़ाते सिफ़ात है
तेरे दम से नज़्मे हयात है
तेरी हम्द सबकी निजात है
तेरी ज़ात ज़ाते सिफ़ात है
तेरी ज़ात ज़ाते सिफ़ात है
तेरी ज़ात ज़ाते सिफ़ात है

Please follow and like us: